🇮🇳 भारत-जापान 🇯🇵 के सहयोग बिना 🤝 नहीं होगी एशिया 🌎 की 21वीं सदी-पीएम मोदी

Share to the world
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

 

भारत और जापान के बीच 13वीं शिखर वार्ता का सोमवार को समापन हो गया है। शिखर वार्ता में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जापान के पीएम शिंजो आबे के बीच व्यापक द्विपक्षीय और पारस्परिक हित के मुद्दों समेत क्षेत्रीय मसलों पर विस्तार से चर्चा हुई। पीएम मोदी और पीएम आबे ने संयुक्त वक्तव्य पर हस्ताक्षर भी किए।

संयुक्त प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि 21वीं सदी एशिया की सदी है और भारत-जापान के सहयोग के बिना 21वीं सदी एशिया की सदी नहीं हो सकती। उन्होंने जापान का अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन में स्वागत करते हुए कहा कि दोनों देश, विदेश और रक्षा मंत्रियों के बीच 2+2 डायलॉग के लिए सहमत हुए हैं। यह विश्व शांति का संदेश देगा।

पीएम मोदी ने कहा कि आज हमने आने वाले भविष्य के लिए साझा विजन पर हस्ताक्षर किए हैं। यह कल हमारे भविष्य को नई रोशनी देगा। हमारे बीच पूरी सहमति बने हम अपने सहयोग को डिजिटल पार्टनरशिप से साइबरस्पेस तक, स्वास्थ्य से सुरक्षा तक और सागर से अंतरिक्ष तक अबाध गति देंगे।

भारत और जापान के बीच आपसी और क्षेत्रीय हितों से जुड़े छह समझौतों पर हस्ताक्षर हुए। दोनों देशों के बीच मुंबई-अहमदाबाद हाई स्पीड रेल परियोजना के लिए ओडीए लोन को लेकर हस्ताक्षर हुए। इसके अलावा आयुष्मान भारत के क्षेत्र में सहयोग, डिजिटल साझेदारी, खाद्य प्रसंस्करण, नौसेना के बीच सहयोग जैसे विषयों पर सहमति बनी। जापान ने अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन में शामिल होने के लिए अपनी स्वीकृति प्रदान की।


Share to the world
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »