जलने पर घबराएं नहीं, तुरंत घर में करें ऐसे इलाज

Share to the world
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

लखनऊ। बुधवार (7 नवंबर) को दिवाली है। इस दिन लोग दीये जलाते हैं और पटाखे फोड़ते हैं। इस लेख में हम आपको कुछ सावधानियां बता रहे हैं। थोड़ी सी सावधानी आपको किसी बड़े खतरे से बचा सकती है ।। सबसे पहले तो जब आप पटाखे या दीए जलाएं तो ध्यान रखें कि आप जले नहीं। यदि जलाते समय आग लग जाए भागना नहीं चाहिए, ऐसा करने से आग और तेज हो सकती है। पीडि़त व्यक्ति को तुरंत जमीन पर लेट जाना चाहिए और दूसरे व्यक्ति को तुरंत पानी डालना चाहिए।

इस बात का ध्यान रखें कि घाव को ठीक करने के लिए बर्फ का प्रयोग न करें, ऐसा करने से घाव को ठीक होने में समय लग सकता है। बिना डॉक्टर के सलाह के कोई भी मरहम ना लगाएं। इससे संक्रमण या फफोले होने की आशंका होती है। आपको तुरंत ही प्लास्टिक सर्जन से संपर्क करना चाहिए।

ऐसा जरूर करें

पटाखे या दीये से यदि हाथ या पैर में कहीं घाव हो गया हो तो सबसे पहले 25 से 30 मिनट के लिए प्रभावित हिस्से को नल के नीचे साफ पानी में तब तक रखें जब तक जलन कम ना हो जाए। इस बात का भी ध्यान देना होगा कि पानी ज्यादा ठंडा ना हो और घाव को रगडऩा नही है।

फस्र्ट एड बॉक्स

वैसे तो लोग दीये जलाने और पटाखे जलाने में सावधानी बरतते हैं लेकिन फिर भी ऐहतियातन जरूरी दवाइयों के फस्र्ट एड बॉक्स को पहले से तैयार रखें। इसके अलावा एक्सपाइरी डेट भी चेक कर लें। फस्र्ट एड किट में डॉक्टर की सलाह से एंटी सेप्टिक लोशन व क्रीम, पट्टी, बैंडेज, रूई, कैंची आदि रखें। पेन किलर दवा भी रख सकते हैं ताकि जरूरत पडऩे पर दे सकें।

घर में कर सकते हैं ऐसा

हल्दी – पेस्ट बनाकर जले हुए हिस्से पर लगाने से राहत मिलेगी।
शहद – इसकी ठंडी तासीर से भी जले हुए हिस्से पर राहत मिलती है। इसे सीधे लगाएं।
एलोवेरा – इसका गूदा जले हुए हिस्से पर सीधा लगाने से जलन कम होगी साथ ही फफोले नहीं पड़ेंगे।
नारियल तेल – एंटीफंगल व एंटीवैक्टीरियल गुण होने के कारण यह राहत देता है।
एंटी सेप्टिक लोशन – जले हुए पर संक्रमण ना फैले इसके लिए एंटी सेप्टिक लोशन व क्रीम लगाएं।


Share to the world
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »