यूपी में पहली बार हमारी सरकार स्कूल सम्मिट का आयोजन कर रही: आराधना शुक्ला प्रमुख सचिव,माध्यमिक शिक्षा

Share to the world
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  


लखनऊ में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में दिनेश शर्मा ने बताया कि उनकी सरकार ने शिक्षा में 4 बिदुओं पर कार्य किया और अलग-अलग तरीके से एनसीआरटी का कोर्स लागू करने का प्रयास किया उन्हें तमाम आधुनिक तकनीकों से परीक्षा संपादन करने का प्रयास किया विद्यार्थियों में कोर्स शेड्यूल उनके अनुसार हो और रोजगार परक शिक्षा हो इस प्रकार के तमाम नए पाठ्यक्रम संचालित करें उनके तनाव को दूर करने का काम किया समय के साथ आज शिक्षा में बदलाव आ रहा है इसलिए हम अगर शिक्षा के लिए नई टेक्नोलॉजी का प्रयोग नहीं करेंगे तो हम पीछे हो जाएंगे इसलिए हमें सीआईआई के साथ 11 और 12 दिसंबर में इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में स्कूल सम्मिट का आयोजन किया जा रहा है इसका मतलब है कि नवाचार विचारों को आधुनिक तकनीक के माध्यम से इंटर तक के जो कक्षाएं हैं प्राथमिक से लेकर उनसे नवाचारी विचार हो जिनमें तकनीक के माध्यम से सकारात्मक परिवर्तन लाया जा सके हम लोग अलग-अलग सत्रों में अलग-अलग विषयों को डिस्कस करेंगे जिसमें तमाम सामाजिक संगठन है शिक्षक संगठन है तमाम प्रदेशों के शिक्षा सचिव कुछ राज्यों के शिक्षा मंत्री भी होंगे एचसीएल हे गूगल इंडिया है अजीम फाउंडेशन है तमाम ऐसी संस्थाओं के प्रतिनिधि भाग लेंगे इसके साथ ही 1100 प्रधानाचार्य और शिक्षकों का भी इस कार्यक्रम में सहभागी होंगे शिक्षा में जो विभिन्न प्रकार के परिवर्तन हो रहे हैं उसमें अपने उत्तर प्रदेश को भी सहभागिता सकें कि हमारा प्रयास होगा प्रथम सत्र में नवाचार के संबंध में वार्ता होगी द्वितीय सत्र में कक्षा रूपांतरण के लिए नवीन क्रांतिकारी तकनीक होगी पर वार्ता होगी तो तीसरे सत्र में ग्लोबल वेस्ट संबंधित चर्चा करेंगे जिसमें बेसिक शिक्षा व माध्यमिक शिक्षा के तमाम अधिकारी देश में अपने विचारों को आदान-प्रदान के माध्यम से एक-दूसरे के साथ बाटेंगे

इस दो दिवसीय सम्मिट में राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय शिक्षाविदों को आमंत्रित किया गया है इसके तहत नवाचार के संबंध में आमूलचूल परिवर्तन के लिए उठाया जाएगा 2020 की माध्यमिक शिक्षा परिषद की परीक्षाएं 18 फरवरी से प्रारंभ हो रही है अभी तक ढाई महीनों में परीक्षा आयोजित होती थी लेकिन इस बार 14 दिनों में ही केवल परीक्षाएं होंगी

2020 में जो इस बार कुल रक्षा केंद्र बने हैं 7786 स्कूल परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं 4 वर्षों में सबसे कम परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं जिस वजह से इस बार सीसीटीवी कैमरा निगरानी बढ़ाई जाएगी इस बार पहली बार राउटर वेबकास्टिंग भी कराई जाएगी

ऑनलाइन के माध्यम से हम सभी जगह देख सकेंगे कि हमारी कहां-कहां परीक्षा हो रही है और उसकी मॉनिटरिंग का भी इसी माध्यम से प्रयोग किया जाएगा
परीक्षा के बाद भी सीसीटीवी कैमरा राउटर वेबकास्टिंग आदि परीक्षा खत्म होने के बाद भी उन्हें स्कूलों में लगे रहे ताकि उनसे शिक्षकों की उपस्थिति और गुणवत्तापूर्ण शिक्षकों के लेक्चर को ऑनलाइन सुना भी जा सकेगा जिससे सरकार ने प्रयास किया है ताकि शुचिता पूर्ण परीक्षाएं भविष्य में संपादित हो सके

89 total views, 3 views today


Share to the world
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »