उत्तर प्रदेश की जेले बनी माफियाओं के सुरक्षित अड्डा ।।

Share to the world
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

रायबरेली।। जहाँ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था को लेकर लगातार इनकाउंटर करके सही बताया होगा । और अपराधियों के दिलों में दहशत बनाई होगी। मगर आज प्रदेश के प्रशासनिक अमले में उस समय हड़कंप मच गया । जब रायबरेली जेल में बंद विभिन्न आपराधिक मामलों में वांछित अपराधी शार्प शूटर अंशु दीक्षित का एक वीडियो वायरल हो गया । जिसमें जेल के अंदर अपने विभिन्न साथियों सहित संपूर्ण सुख सुविधाओं का आनंद लेते हुए और अपराधी के पास बंदूक के जिंदा कारतूस का होना और अपराधी फोन पर फिरौती के लिए धमकाता दिखाई दे रहा है । वीडियो में जेल के अंदर प्रतिबंधित सभी वस्तुएं अपराधी के आसपास दिखाई दे रही है । अंशु दीक्षित जिसे वर्ष 2014 में गोरखपुर में एसटीएफ की टीम ने तत्कालीन सी ओ एसटीएफ विकास त्रिपाठी के नेतृत्व में पकड़ा गया था । भोपाल में उसको पकड़ने गई थी। टीम के उपनिरीक्षक संदीप मिश्रा को अपराधी गोली मारकर फरार हुआ था । कई हाई प्रोफाइल मर्डर को यह अपराधी अंजाम दे चुका है । अंशु दीक्षित का जेल के अंदर से इस तरह फिरौती का धंधा चलाया जाना व सुख सुविधाओं का उपयोग करना कहीं ना कहीं प्रदेश की सरकार पर सवाल उठाता है । वीडियो वायरल होने के बाद जिले के कलेक्टर व कप्तान द्वारा जेल में छापा मारा गया तथा सघन तलाशी अभियान चलाया गया । घटना की गंभीरता को देखते हुए आनन-फानन में रायबरेली जेल के डिप्टी जेलर व 6 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है । मगर इससे क्या होना है क्यो के इस तरह की घटनाएं पहले भी कई बार सामने आती रही है मगर कभी भी किसी तरह का कोई भी एक्शन नही लिया गया।।


Share to the world
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »